75th Independence Day Celebration at CUSB

I believe that the horizontal growth of the University may bring the desired outcome and serve the purpose of a higher educational institution like Central University of South Bihar (CUSB). Vertical growth may bring infrastructure development and host of amenities but all these remain confined within the boundaries of the University. With horizontal growth an institution can ensure dissemination of academic activities with efficiency and at the same time play a significant role in the community. Need of the hour is that we shall take our University outside the boundaries to bring desired results in developing a civilized society and nurturing the young minds for the welfare of the society and nation. Such important thoughts were shared by Central University of South Bihar (CUSB) Vice-Chancellor Prof. Kameshwar Nath Singh during his Independence Day address on the occasion of 75th Independence Day of India.

 

It was the first Independence Day address of Prof. K. N. Singh after he assumed the office on July 26, 2021 in which spoke about the strengths of Indian Democracy, the contributions of great freedom fighters for setting India free from the clutches of British, the efficient leadership of Prime Minister Mr. Narendra Modi for taking ahead the country, the historic performance of India at Tokyo Olympics and other topics related to the nation. Prof. Singh said that the University is on the way of adopting NEP – 2020 that would surely bring encouraging results in the coming time in the field of education at various levels. NEP is focused towards skill development that includes academic, professional, vocational and life skills. CUSB Vice-Chancellor also expressed his concern for those who even after 75 years of India’s Independence are battling with poverty, sickness, doing hardships for winning two time breads and facing several other types of problems. We as the citizen of India must think about all without making any discrimination in the name of caste or creed or religion, said Prof. Singh.

Earlier at the onset of Independence Day celebration at CUSB, the Vice-Chancellor was given guard of honour, followed by the flag hoisting and singing of the national anthem by the University fraternity. The Independence Day Address of the Vice-Chancellor was followed by cultural programmes performed by the students at Vivekananda Lecture Hall. The Independence Day event was conducted under supervision of Registrar Col. Rajiv Kumar Singh and executed by the Dean Students’ Welfare Prof. Aatish Prashar and Proctor Prof. Umesh Kumar Singh. On this occasion the Controller of Examinations Mrs. Rashmi Tripathi and other officials were present along with Deans, Heads, faculty members, staff and students of the University. Nazni Parween, Jaini Bhaumik, Pratika Singh and Ashutosh Pathak enthralled the students with their mesmerizing performance and patriotic songs.

On the other hand, Public Relations Officer (PRO) Mohammad Mudassir Alam sung the patriotic song from Haqeeqat movie "Kar Chalen Hum Fida '' and enhanced the joy of Independence Day celebrations. The event was compared in a nice way by Mass Communication student Ms. Alisha Pathak and Hindi department Research Scholar Nachiketa Vats.

========================================

 

 मैं विश्वविद्यालय के क्षैतिज विकास पर विश्वास करता हूं, सीयूएसबी के वीसी प्रो. के.एन.सिंह

 

मेरा मानना है कि विश्वविद्यालय का क्षैतिज विकास वांछित परिणाम ला सकता है और दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) जैसे उच्च शिक्षण संस्थान के किसी भी प्रांत में स्तिथ होने के उद्देश्य की पूर्ति कर सकता है। ऊर्ध्वाधर विकास बुनियादी ढांचे के विकास और सुविधाओं में बेहतरी ला सकता है लेकिन ये सभी सुविधाएं विश्वविद्यालय की सीमाओं के भीतर तक ही सीमित रह जाती  हैं । क्षैतिज विकास के साथ एक संस्थान दक्षता के साथ शैक्षणिक गतिविधियों का प्रसार सुनिश्चित तो कर ही सकता है और साथ-ही-साथ समुदाय के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। समय की मांग है कि हम अपने विश्वविद्यालय को सीमाओं से बाहर ले जाएं और सभ्य समाज का विकास करने में बहुमूल्य योगदान दें | पठन - पाठन के साथ विवि परिसर के आस पास के गाँवों में ज्ञान का प्रसार कर स्कूली बच्चों एवं युवाओं में शिक्षा के साथ एक अच्छी सोच को विकसित कर सकते हैं जो समाज और देश के लिए बहुत बड़ा योगदान होगा, यही सच्ची देशभक्ति भी है | ये महत्वपूर्ण बातें दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) के माननीय कुलपति प्रो० कामेश्वर नाथ सिंह ने भारत के 75 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन के दौरान की । 26 जुलाई, 2021 को पदभार ग्रहण करने के बाद यह प्रो. के.एन. सिंह का पहला स्वतंत्रता दिवस संबोधन था जिसमें उन्होंने भारतीय लोकतंत्र की ताकत के साथ भारत को अंग्रेजों के चंगुल से मुक्त करने के लिए महान स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा दिए गए त्याग व बलिदान को याद किया | उन्होंने देश को आगे विकास के रास्ते पर ले जाने के लिए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की सराहना करते हुए टोक्यो ओलंपिक में भारत का ऐतिहासिक प्रदर्शन और राष्ट्र से संबंधित अन्य विषयों पर चर्चा की। प्रो. सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी-2020) को अपनाने की राह पर है, जो आने वाले समय में विभिन्न स्तरों पर शिक्षा के क्षेत्र में निश्चित रूप से उत्साहजनक परिणाम लाएगा। एनईपी कौशल विकास पर केंद्रित है जिसमें अकादमिक, पेशेवर, व्यावसायिक और जीवन कौशल शामिल हैं। सीयूएसबी के कुलपति ने उन लोगों के लिए भी अपनी चिंता व्यक्त की जो भारत की आजादी के 75 साल बाद भी गरीबी व बीमारी से जूझ रहे हैं और कई अन्य प्रकार की समस्याओं का सामना कर रहे हैं। माननीय कुलपति ने कहा कि भारत के नागरिक के रूप में हमें जात-पात और धर्म के नाम पर कोई भेदभाव किए बिना सभी के बारे में सोचना चाहिए।


इससे पहले सीयूएसबी में स्वतंत्रता दिवस समारोह की शुरुआत में माननीय कुलपति प्रोफेसर सिंह को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया और इसके बाद उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज को फहराया | फिर समस्त विवि परिवार ने राष्ट्रगान गाया गया जिससे सभी में देशभक्ति की भावना का संचार हुआ। कुलपति के स्वतंत्रता दिवस के संबोधन के बाद विवेकानंद लेक्चर हॉल में छात्रों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का प्रदर्शन किया गया। स्वतंत्रता दिवस समारोह रजिस्ट्रार कर्नल राजीव कुमार सिंह की देखरेख में आयोजित किया गया था और डीन छात्र कल्याण प्रो० आतिश पराशर और प्रॉक्टर प्रो० उमेश कुमार सिंह द्वारा कुशलता से निष्पादित किया गया । इस अवसर पर परीक्षा नियंत्रक श्रीमती रश्मि त्रिपाठी एवं अन्य अधिकारी सहित विश्वविद्यालय के डीन, प्रधानाध्यापक, संकाय सदस्य, कर्मचारी एवं छात्र उपस्थित थे। विवि के छात्रों नाज़नी परवीन, जैनी भौमिक, प्रतिका सिंह और आशुतोष पाठक ने अपने मंत्रमुग्ध कर देने वाले देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति से सभागार में मौजूद लोगों का मन मोह लिया। वहीँ जन सम्पर्क पदाधिकारी (पीआरओ) मोहम्मद मुदस्सीर आलम ने हक़ीक़त फ़िल्म के गीत "कर चलें हम फ़िदा" गाते हुए आज़ादी के जश्न में समां बाँध दिया | मास कम्युनिकेशन की छात्रा अलीशा पाठक और हिंदी विभाग की रिसर्च स्कॉलर नचिकेता वत्स ने अपने खूबसूरत मंचसंचालन से स्वतंत्रता दिवस समारोह में चार - चाँद लगा दिया | 

Campus


SH-7, Gaya Panchanpur Road, Village – Karhara, Post. Fatehpur, Gaya – 824236 (Bihar)

Contact


Reception: 0631 - 2229 530
Admission: 0631 - 2229 514 / 518
                        - 9472979367

 

Connect with us

We're on Social Networks. Follow us & get in touch.

Visitor Hit Counter :

26736954 Views

Search